h

पेट्रोल और डीजल कारें सौ साल से भी अधिक समय से हमारी सेवा कर रही हैं। लेकिन हम सभी जानते हैं कि वे भविष्य नहीं हैं, लेकिन इस तरह का सवाल यह है कि, जो कुछ आप यहाँ देख रहे हैं वह बहुत अच्छा है, बस इतना है कि यह टोयोटा मिराई एक ऐसी कार है जिसका नाम भविष्य में और हुंडई ix35 के साथ भी है।

पहली हाइड्रोजन कार

टोयोटा ने 2014 के अंत में जापान में अपना पहला हाइड्रोजन ईंधन सेल वाहन (FCV), मिराई (Mirai) शुरू किया और कैलिफोर्निया में बिक्री शुरू की ।

इसके बाद हुंडई की ix35 FCEV जिसे टक्सन FCEV भी कहते है, एक हाइड्रोजन ईंधन सेल इलेक्ट्रिक वाहन है। जिसे हुंडई द्वारा विकसित किया गया है। यह व्यावसायिक रूप से बेचे जाने वाला पहला एसयूवी जैसा वाहन है, साथ ही यह दुनिया में पहला व्यावसायिक रूप से बड़े पैमाने पर उत्पादित हाइड्रोजन ईंधन सेल वाहन है।

हाइड्रोजन कार क्या है।?

सबसे पहले तो इसका नाम ही थोड़ा भ्रामक है क्योंकि इस तरह की कारों को हाइड्रोजन कार कहा जाता है। वास्तव में, वे संकर (hybrid) हैं और ऐसा इसलिए है क्योंकि वे दो बिजली स्रोतों एक नियमित बैटरी और हाइड्रोजन ईंधन सेल का उपयोग करते हैं ,और इलेक्ट्रिक मोटर्स को चलाते हैं । दो ऊर्जा स्रोतों का एक साथ इस्तेमाल करने से गाडी को स्पीड तेजी से बढ़ाने में मदद मिलती है ।

हाइड्रोजन ईंधन को इस्तेमाल करने से बिजली का निर्माण होता है,जो बिजली कार चलाने से अतिरिक्त बची होती है वो बैटरी में चली जाती है, तथा जब आप कार को किसी एक सामान रफ़्तार पर चला रहे होते है तथा बैटरी चार्ज होने पर इंजन बंद हो जाता है, जब आपको अतिरिक्त रफ़्तार की आवश्यकता होती है, दोबारा शुरू हो जाता है,

प्रदुषण से मुक्ति

हाइड्रोजन ईंधन के इस्तेमाल से एकमात्र उत्पन उत्पाद पानी है,और यह पानी इतना शुद्ध होता है की आप खुद इसे पी सकते है.,

सस्ता ईंधन

पेट्रोल और डीजल को पेट्रोल पम्प पर ईंधन अन्य देशे से लाया जाता है., पेट्रोल और डीजल की कीमत काफी काम होने के बावजूद उसे लाने का खर्च और उन सभी शुल्क व मूल्य के ऊपर भारी भरकम tax , इस तरह पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ जाते है,

परन्तु हाइड्रोजन को पेट्रोल पम्प पर खुद बनाया जाता है, उसके सबसे सुलभ रूप पानी से अलग करके। अब पेट्रोल पम्प के मालिक को यह तय करना होता है, की उसे प्रतिकिलोग्राम कितना मुनाफा चाहिए उसे जो टैक्स भरने है वो भी सिर्फ मुनाफा कमाने के बाद मुनाफे का एक छोटा हिस्सा, इस प्रकार हाइड्रोजन पेट्रोल और डीजल के मुकाबले काफी सस्ता पड़ता है ।

खतरे

किसी भी वाहन के दुर्घटना होने पर उसमे आग लगाने और बिस्फोट का खतरा होता है, जब आप हाइड्रोजन टैंक के ऊपर बैठे हो तो यह सोचना और भी जरुरी है,
पर टोयटा ने अपने हाल ही के परीक्षणों से यह बतलाया की हाइड्रोजन कार पेट्रोल वाली कार से ज्यादा सुरक्षित है, उदाहरण के लिए यदि आप एक पेट्रोल कार के टैंक को गोली से भून देते है उस स्थिति में आग लग जाएगी और बिस्फोट भी हो सकता है, पर हाइड्रोजन टैंक को गोलियों से भूनने पर आपकी गोलिया टैंक में छेद नहीं बना पाएंगी और टैंक की ऊपरी सतह में फंस जाएँगी। क्योंकि हाइड्रोजन टैंक काफी ज्यादा मजबूत होते है. ।

टोयटा ने ही अपने एक प्रयोग में कैलिबर बन्दूक के इस्तेमाल से हाइड्रोजन टैंक में गोली मारी जिससे टैंक में छेद हो गया। परन्तु कोई भी बिस्फोट नहीं हुआ। हाइड्रोजन गैस ऑक्सीजन काफी हल्की होती है इस कारण यदि आग लगती भी है तो आग फैलेगी नहीं आग सीधे ऊपर जाएगी ।

हमारी भूमिका

हम अपने सहयोगियों के साथ विभिन्न क्षेत्रो में कार्य कर रहे है. हाइड्रोजन कार पर हमारा सहयोगी Hydrogenics है. उसके साथ हम हाइड्रोजन कार के अलावा हाइड्रोजन पावर प्लांट प्रोजेक्ट पर भी काम कर रहे है.

निवेश में भविष्य

gsb finance सेबी और bse (बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज) से रेजिस्टर्ड है और इन्वेस्टमेंट लेने के लिए मुक्त है.

किसी ऐसी फाइनेंसियल कंपनी जो सेबी से रजिस्टर नहीं है, उसमे इन्वेस्ट करना खतरनाक होता है, क्योंकि नुकसान होने की स्थिति में कंपनी आपको पैसे देने में अक्षम होती है । और सेबी प्रतिपूर्ति नहीं देती क्योंकि कंपनी रेजिस्टर्ड नहीं थी.

सेबी से रेजिस्टर्ड कम्पनिया ब्याज थोड़ा काम देती है. परन्तु वो आपको इन्वेस्टमेंट सर्टिफिकेट या बांड जारी करती है. यदि किसी कारण से कंपनी को नुकसान होता है., और वो निवेशको के पैसे वापस देने में अक्षम होने पर उनकी भरपाई सेबी द्वारा जाती है, यह प्रक्रिया थोड़ा समय लेती है. पर आप 100 % सुरक्षित होते है. gsb finance का सेबी रजिस्ट्रेशन नंबर निम्न हैं.

NSE F&O SEBI REG. NO: INF230902537

NSE CASH SEBI REG. NO: INB230902537

BSE SEBI REG. NO: INB010969938

MCX SEBI REG. NO: INE260902537

Leave a Reply